महिला नसबंदी, पुरुष नसबंदी - Find My Method
 

अंतिम बार संशोधित किया गया मार्च 31st, 2021

vasectomy
  • उन लोगों के लिए स्थायी समाधान जो जानते हैं कि भविष्य में उन्हें गर्भधारण नहीं करना है। यह पुरुष एवं महिला दोनों ही के लिए उपलब्ध है।

  • प्रभावकारिताः बहुत प्रभावी। प्रत्येक 100 में से 99 व्यक्ति ने इन विधियों का प्रयोग कर गर्भधारण को सफलता पूर्वक रोका है।

  • दुष्प्रभावः प्रक्रिया के तुरंत बाद दर्द या असहजता महसूस हो सकती है।

  • प्रयासः निम्न। आपको यह एक बार कराना होगा और बस हो गया।

  • यौन संचारित संक्रमणों (एसटीआई) से सुरक्षा प्रदान नहीं करता

सारांश

नसबंदी

महिला नसबंदी, पुरुष नसबंदी

पुरुष और महिलाएं दोनों ही नसबंदी करा सकते हैं। महिलाओं के लिए, नसबंद एक ऐसी प्रक्रिया है जिसमें उनके फैलोपियन ट्यूब को बंद कर दिया जाता है ताकि वे गर्भवती न हो सकें। पुरुषों के लिए, नसबंदी वैसक्टॉमी (पुरुष नसबंद) कहा जाता है। यह पुरुषों के शुक्राणु वहन करने वाली नलियों को बंद कर देता है। अधिक जानकारी के लिए डॉक्टर से बात करें और उम्र संबंधि निषेधों और प्रतीक्षा अवधियों जैसी आवश्यकता के बारे में जरूर पूछें।

नसबंदी के प्रकारः

चीरा लगाना। पुरुष और महिला दोनों ही के लिए चीरा लगा कर नसबंदी कराने का विकल्प उपलब्ध है। महिलाओं के लिए लैप्रोस्कोपी, मिनी लैप्रोटॉमी और लैप्रोटॉमी में चीरा लगाना होता है। इसके कारण, इन्हें बेहोश करने/ एनेस्थेसिया दिए जाने की भी जरूरत पड़ती है। शल्य–चिकित्सा/ सर्जरी से उबरने में 2–21 दिनों का समय लग सकता है।

पुरुषों के लिए चीरा वाले वैसक्टॉमी में 20 मिनटों का समय लगता है। इसके लिए सिर्फ लोकल एनेस्थेसिया देनी पड़ती है। डॉक्टर अंडकोश (स्क्रोटम) पर एक या दो चीरा लगाता है ताकि शुक्राणु तरल पदार्थ (सेमीनल फ्लूड) में प्रवेश न कर जाएं। चूंकि शुक्राणु बाहर नहीं निकल पाते इसलिए महिला गर्भवती नहीं हो सकती।

बिना– चीरे का। Essure महिलाओं के लिए एक ऐसी प्रक्रिया है जिसमें शल्य– चिकित्सा या एनेस्थिसिया देने की जरूरत नहीं पड़ती। योनि के माध्यम से फैलोपियन ट्यूब तक पहुंचा जाता है जिसमें माइक्रो–इंसर्ट्स डाले जाते हैं। ये इंसर्ट्स स्कार टिश्यू को बढ़ाते हैं जो नली को अवरूद्ध कर देते हैं। उसी दिन महिला स्वस्थ हो जाती है और इससे उसकी सामान्य गतिविधियों पर प्रभाव नहीं पड़ना चाहिए। स्कार टिश्यू को बनने और इस विधि को प्रभावी बनाने में में कई महीने लगते हैं।

पुरुषों के लिए बिना चाकू वाली नसबंदी में एक छोटा सा छेद किया जाता है जो उसकी नलियों तक पहुंचता है। इसके बाद उसकी नलियों को बांध दिया जाता है, संवेदनहीन बना दिया जाता है या अवरुद्ध कर दिया जाता है। इसमें किसी प्रकार का निशान नहीं बनता, न तो टांके लगते हैं और यह प्रक्रिया बिना किसी जटिलता के तेजी से ठीक होने के लिए जानी जाती है।

विवरण

कुल निश्चितता। नसबंदी कराने से पहले, आपको 100% सुनिश्चित होने की जरूरत है कि आपको जैविक बच्चे नहीं चाहिए।

नसबंदी किन्हें करानी चाहिए? नसबंदी पुरुष या महिला कोई भी करा सकता है इसलिए यदि आप उसी पार्टनर के साथ बने रहने की योजना बना रहे हैं तो नसबंदी कौन कराएगा, इस बारे में आपस में बात करें।

हार्मोन की चिंता नहीं। यदि आप हार्मोन विधि का प्रयोग करना नहीं चाहते तो यह एक विकल्प है। साथ ही, नसबंदी आपके शरीर के प्राकृतिक हार्मोन्स को नहीं बदलता।

आपका परिवार काफी बड़ा है। यदि पहले से ही आपके बच्चों की संख्या अच्छी– खासी है या आप और बच्चे नहीं चाहते तो आपके लिए यह अच्छा विकल्प है।

यदि गर्भधारण करने से स्वास्थ्य संबंधी गंभीर परेशानी हो सकती है। यदि आप या आपकी पार्टनर के कभी भी गर्भधारण नहीं करने के पीछे कोई चिकित्सीय कारण है तो नसबंदी संभवतः अच्छा विकल्प हो सकता है।

उपलब्धता। क्या आप इस विधि का प्रयोग करना चाहती हैं? यह विधि सभी देशों में उपलब्ध है। हालांकि, उम्र और जीवनसाथी या माता–पिता की सहमति संबंधी नियम हो सकते हैं। अधिक जानकारी के लिए “Methods in my country” खंड देखें।

प्रयोग कैसे करें

नसबंदी करने के दो तरीके हैः चीरा लगा कर (डॉक्टर चीरा लगाता है) और बिना चीरा वाला (इसमें किसी प्रकार की चीड़–फाड़ नहीं की जाती)

महिलाओं के लिएः चीरा वाली विधियों में शामिल है लैप्रोस्कोपी, मिनि–लैप्रोटॉमी और लैप्रोटॉमी। इन तीनों में सबसे प्रमुख शल्य चिकित्सा लैप्रोटॉमी है लेकिन यह सबसे कम कराया जाता है। इसके लिए मरीज को कुछ दिनों तक अस्पताल में रहना पड़ता है और स्वस्थ होने में कुछ सप्ताह का समय लग सकता है। लैप्रोस्कोपी और मिनि लैप्रोटॉमी कम जटिल होते हैं, मरीज को अनिवार्य रूप से पूरी रात अस्पताल में रहना नहीं पड़ता और वह तेजी से स्वस्थ होतीं हैं।

बिना– चीरे वाली विधि में Essure, एक पतली, नली जैसा उपकरण आपके गर्भाशय ग्रीवा और गर्भाशय के मुख के माध्यम से भीतर डाली जाती है ताकि प्रत्येक फैलोपियन ट्यूब में छोटा इंसर्ट किया जा सके। Essure में 1 ½” के धातु की तार होती है, आपकी नलियों को अवरूद्ध करने के लिए इंसर्ट के आस–पास स्कार उतक बन जाते हैं।

बिना– चीरे वाली नसबंदी सरल और कम महंगी होती हैः इंसर्ट करने में सिर्फ तीन से 15 मिनटों तक का समय लग सकता है और उसी दिन घर वापस जा सकती हैं। इसके लिए आपको सामान्य एनेस्थिसिया या शल्य– चिकित्सा/ सर्जरी की आवश्यकता नहीं होती और आप तेजी से स्वस्थ होती हैं। साथ ही, किसी प्रकार का चीरा नहीं मतलब दिखाई देने वाला कोई निशान भी नहीं। तीन महीनों के लिए आपको दूसरी विधि के प्रयोग की आवश्यकता होगी, फिर नलियां पूरी तरह से अवरुद्ध हो चुकी हैं, इसे सुनिश्चित करने के लिए एक्स–रे कराना होगा। ऐसी विधि तत्काल ही असर करने लगती है।

पुरुषों के लिएः चीरे की विधि वैसक्टॉमी है। यह एक त्वरित प्रक्रिया है जिसमें डॉक्टर के पास जाना होता है लेकिन आपको क्लिनिक या अस्पताल में पूरी रात रूकने की जरूरत नहीं। अंडकोश को सुन्न करने के लिए डॉक्टर लोकल एनेस्थिसिया का प्रयोग करेगा, एक छोटा सा चीरा लगाएगा और फिर नलियों को बांध देगा या काट कर सीलबंद कर देगा। यह चीरा शुक्राणु को वीर्य में मिलने से रोकेगा लेकिन शुक्राणु कुछ महीनों के लिए नलियों के आस–पास चिपक सकते हैं। चीरा तेजी से ठीक होगा और इसके लिए टांके लगाने की जरूरत नहीं पड़ेगी लेकिन आपको तीन महीनों के लिए गर्भनिरोधक की अन्य विधि (जैसे कॉन्डोम) का प्रयोग करना चाहिए।

दुष्प्रभाव

प्रत्येक व्यक्ति अलग होता है। आपने जो अनुभव किया वैसा ही अनुभव दूसरा व्यक्ति भी करे, यह जरूरी नहीं है।

सकारात्मक पक्षः

  • गर्भवती होने की चिंता छोड़ कर आप यौन संबंध बना सकती हैं।

  • एक बार कराएं और फिर इसके बारे में कभी न सोचें

  • आपके शरीर में कोई हार्मोन नहीं डाला जाता।

नकारात्मक पक्षः

  • आपकी नलियों का फिर से संपर्क में आने का बहुत कम खतरा होता है– जिसके कारण गर्भवती हो सकती हैं।

  • शल्य–चिकित्सा में जटिलता संभव है जैसे रक्तस्राव, संक्रमण या एनेस्थिसिया के प्रति प्रतिक्रिया

  • Essure विधि के लिए, तारें अपने स्थान से हट सकती हैं।

  • Essure विधि के साथ डालने के दौरान गर्भाशय क्षतिग्रस्त हो सकता है (यह दुर्लभ है)।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्‍न

हम यहां आपकी मदद करने के लिए हैं। यदि आपको अभी भी अच्छा महसूस नहीं हो रहा तो हमारे पास अन्य विधियां भी हैं। प्रत्येक व्यक्ति के लिए और हर जगह विधि उपलब्ध है।

कई सप्ताह पूर्व नसबंदी कराने के बाद भी मैं थका हुआ और दर्द महसूस क्यों कर रहा हूँ?

  • प्रक्रिया के बाद कई सप्ताहों या दिनों तक थका हुआ या दर्द महसूस करना आम है। हालांकि, यदि आपको इस संबंध में चिंता है या यदि आपने तुरंत अपनी शक्ति वापस पाना शुरु नहीं किया तो आपको अपने डॉक्टर से मिलना चाहिए।

यदि मैंने नसबंदी कराई हो और मुझमें गर्भवती होने के लक्षण दिखाई दें तो? क्या मैं गर्भवती हो सकती हूं?

  • नसबंदी बहुत प्रभावी होता है और इसका उद्देश्य स्थायी होना है। फिर भी, प्रक्रिया के बाद एक वर्ष के भीतर नसबंदी कराने वाली प्रत्येक 1,000 महिलाओं में से करीब 5 महिलाएं गर्भवती हो जाती हैं और यह मामूली जोखिम रजोनिवृत्ति तक बना रहता है।

  • यदि आपको स्वयं के गर्भवती होने का डर है तो गर्भवती होन की जांच कराएं।

मैंने अंतर्गर्भाशयकला अपवर्तन (एडोमटेरियल एब्लेशन) कराया था और मुझे गर्भवती हो जाने की चिंता है। क्या नसबंदी कराना उचित रहेगा?

  • अवर्तन (एब्लेशन) के बाद गर्भवती होने की संभावना बहुत कम होती है और हम नसबंदी कराने की सिफारिश नहीं करते। हालांकि, यह कराया जा सकता है। ऐसी महिलाएं जिन्होंने अंतर्गर्भाशयकला अपवर्तन (एडोमटेरियल एब्लेशन) कराया था ( जैसे गर्भाशय अपवर्तन– यूटेरीन एब्लेशन) उन्हों रजोनिवृत्ति तक गर्भनिरोधक का प्रयोग करना चाहिए। हालांकि इस प्रक्रिया के बाद गर्भवती होने की संभावना है, अंतर्गर्भाशयकला अपवर्तन (एडोमटेरियल एब्लेशन) के बाद गर्भवती होना जटिल हो सकता है, इसलिए आप जब तक यह फैसला न कर ले कि आपको और बच्चे नहीं चाहिए तब तक नसबंदी न कराएं। यदि आपने अंतर्गर्भाशयकला अपवर्तन (एडोमटेरियल एब्लेशन) कराया है और कभी भी अनियोजित गर्भवती होने की चिंता नहीं करना चाहती तो नसबंदी अच्छा विकल्प हो सकता है।

References

[1] Cook LA, et al. (2014). Vasectomy occlusion techniques for male sterilization (Review). John Wiley & Sons. Retrieved from https://www.cochranelibrary.com/cdsr/doi/10.1002/14651858.CD003991.pub4/full/es
[2] Dr Marie Marie Stopes International. (2017). Contraception. Retrieved from http://www.mariestopes.org.au/wp-content/uploads/Contraception-brochure-web-200417.pdf
[3] FPA the sexual health charity. (2015). Your guide to male and female sterilisation. Retrieved from https://www.fpa.org.uk/sites/default/files/male-and-female-sterilisation-your-guide.pdf
[4] FSRH Faculty of Sexual & Reproductive Healthcare. (2014). Male and Female Sterilisation. RCOG, London. Retrieved from https://www.fsrh.org/standards-and-guidance/documents/cec-ceu-guidance-sterilisation-cpd-sep-2014/
[5] Patil, E., & Jensen, J. T. (2015). Update on Permanent Contraception Options for Women. Current Opinion in Obstetrics and Gynecology. Retrieved from https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4678034/
[6] Reproductive Health Access Project. (2018). Permanent Birth Control (Sterilization). Retrieved from https://www.reproductiveaccess.org/wp-content/uploads/2014/12/sterilization.pdf
[7] RCOG Royal College of Obstetricians and Gynaecologists. (2016). Female Sterilisation. Royal College of Obstetricians and Gynaecologists, London. Retrieved from https://www.rcog.org.uk/globalassets/documents/guidelines/consent-advice/consent-advice-3-2016.pdf
[8] World Health Organization. (2016). Selected practice recommendations for contraceptive use. Geneva. Retrieved from https://apps.who.int/iris/bitstream/handle/10665/252267/9789241565400-eng.pdf?sequence=1
[9] World Health Organization Department of Reproductive Health and Research and Johns Hopkins Bloomberg School of Public Health Center for Communication Programs (2018) Family Planning: A Global Handbook for Providers. Baltimore and Geneva. Retrieved from https://apps.who.int/iris/bitstream/handle/10665/260156/9780999203705-eng.pdf?sequence=1


lang हिन्दी