गर्भनिरोधक स्पंज, जन्म नियंत्रण स्पंज - Find My Method
 

अंतिम बार संशोधित किया गया मार्च 31st, 2021

sponge
  • हार्मोन नहीं होता। डॉक्टर की पर्ची नहीं चाहिए।

  • यौन संबंध बनाने से 24 घंटे पहले आप इसे डाल सकती हैं।

  • प्रभावकारिताः स्पॉन्ज सबसे प्रभावी विधि नहीं है, विशेष रूप से यदि पहले से ही आपके बच्चे हैं। सामान्य प्रयोग में, इस्तेमाल करने वाली प्रत्येक 100 महिलाओं में से सिर्फ 76 से 88 महिलाएं ही गर्भवती होने से बच सकीं।

  • दुष्प्रभाव/ साइड इफेक्ट्सः आपको थोड़ी जलन हो सकती है।

  • प्रयासः अधिक– आपको प्रत्येक बार यौन संबंध बनाने से पहले इसे लगाना होगा।

  • यौन संचारित संक्रमणों (एसटीआई) से सुरक्षा प्रदान नहीं करता।

सारांश

गर्भनिरोधक स्पंज

स्पॉन्ज सफेद प्लास्टिक फोम का गोल टुकड़ा है। इसके एक तरफ गड्ढा (डिंपल) होता है और सिरे के आर–पार नायलॉन का लूप बना होता है। यह 5सेमी का होता है और यौन संबंध बनाने से पहले इसे आपको अपनी योनि में डालना होता है। स्पॉन्ज जो तरीके से काम करता हैः यह आपके गर्भाशय ग्रीवा को अवरुद्ध कर शुक्राणु को आपके गर्भ में जाने से रोकता है और लगातार शुक्राणुरोधी मलहम भी जारी करता रहता है।

विवरण

यदि आपको गर्भवती हो जाने की चिंता न हो तो अच्छा विकल्प है। ज्यादातर महिलाएं स्पॉन्ज का सही तरीके से इस्तेमाल नहीं करते, इसलिए गर्भवती हो जाती हैं। यदि आप गर्भवती नहीं होना चाहतीं या बच्चा पैदा करना नहीं चाहतीं तो अलग विधि पर विचार करें।

आप अपने शरीर के साथ सहज हैं। यदि आपको अपने भीतर अपनी ही उंगलियां डालना अच्छा नहीं लगता तो स्पॉन्ज आपके लिए सर्वोत्तम विकल्प नहीं है। यह बहुत हद तक टैम्पन लगाने जैसा है, हालांकि– यदि आप वह कर सकती हैं तो संभव है आप स्पॉन्ज का प्रयोग भी कर लें।

इसमें अनुशासन चाहिए। प्रत्येक बार यौन संबंध बनाने से पहले आपको इसे डालना याद रखना होगा। इसके लिए आपको थोड़े स्व–अनुशसान एवं नियोजन की आवश्यकता होगी। लेकिन यदि आप चाहें तो इसे कम– से–कम अपने साथ रख सकती हैं।

एलर्जी? यदि आपको सल्फा ड्रग्स, पॉलियूरेथेन या शुक्राणुरोधी मलहम से एलर्जी है तो स्पॉन्ज का प्रयोग नहीं करना चाहिए।

गर्भवती होने का प्रश्‍न स्पॉन्ज में हॉर्मोन नहीं होते इसलिए स्पॉन्ज का इस्तेमाल करना बंद करते ही आप गर्भवती होने में सक्षम हो जाएंगी। यदि आपने स्पॉन्ज का प्रयोग बंद कर दिया है और गर्भवती होना नहीं चाहतीं तो किसी अन्य विधि से स्वयं को सुरक्षित बनाएं।

उपलब्धता। क्या आप इस विधि का प्रयोग करना चाहती हैं? उपलब्धता विकल्पों के बारे में जानने के लिए “Methods in my country” खंड देखें।

प्रयोग कैसे करें

यौन संबंध बनाने से 24 घंटे पहले आप स्पॉन्ज लगा सकती हैं। सही तरीके से इस्तेमाल करने के लिए थोड़े अभ्यास की आवश्यकता होती है, इसलिए निम्नलिखित निर्देशों का पालन करें।

इसे भीतर कैसे डालें:

      1. अपने हाथों को साबुन और पानी से धोएं। उन्हें सूखने दें।

      2. भीतर डालने से पहले कम–से–कम 30 मिली साफ पानी से स्पॉन्ज को गीला करें।

      3. स्पॉन्ज को धीरे से दबाकर शुक्राणुरोधी मलहम को सक्रिए करें।

      4. गड्ढे (डिम्पल) वाली साइड को उपर की तरफ रखते हुए स्पॉन्ज को उपर की तरफ आधा मोड़ें।

      5. अपनी योनि में आपकी उंगलियां जहां तक पहुंच सकें वहां तक स्पॉन्ज को ले जाएं।

      6. स्पॉन्ज खुद ही खुल जाएगा और आपके द्वारा अपनी उंगलियां निकाल लेने के बाद आपके गर्भाशय ग्रीवा को ढंक देगा।

      7. स्पॉन्ज के किनारों पर अपनी उंगली घुमाकर सुनिश्चित करें कि वह अपने स्थान पर पहुंच गया है। आपको नायलॉन की लूप स्पॉन्ज के नीचले हिस्से में महसूस होनी चाहिए।

      8. आपको सिर्फ एक ही बार स्पॉन्ज डालना चाहिए। योनि में डाले जा चुके स्पॉन्ज का दुबारा प्रयोग न करें। जब यह भीतर हो तब आप जितनी बार भी चाहें यौन संबंध बना सकती हैं।

      9. भीतर डाले जाने के बाद आप यौन संबंध बनाने के लिए तैयार हैं।

बाहर कैसे निकालें:

    1. यौन संबंध बनाने के कम–से–कम छह घंटे बाद तक इसे वहीं रहने दें।

    2. अपने हाथों को साबुन और पानी से धोएं।

    3. अपनी योनि में एक उंगली डालें और लूप महसूस करें।

    4. लूप मिलने के बाद, स्पॉन्ज को धीरे– धीरे आराम से बाहर निकाल लें।

    5. स्पॉन्ज को कूड़ेदान में फेंक दें। इसे बच्चों और पशुओं से दूर रखें।

टिप्स और तरकीब

शुक्राणुरोधी मलहम को सक्रिए बनाने के लिए स्पॉन्ज को पूरी तरह से गीला करने की जरूरत होती है। पानी को फैलाने के लिए इसे निचोड़ें।

दुष्प्रभाव

प्रत्येक व्यक्ति अलग होता है। आपने जो अनुभव किया वही दूसरा भी करे, ऐसा जरूरी नहीं है।

सकारात्मक पक्ष:

  • आप 24 घंटे पहले स्पॉन्ज डाल सकते हैं

  • जब तक यह भीतर रहे तब तक आप जितनी बार भी चाहें यौन संबंध बना सकते हैं।

  • न तो आप और न ही आपके पार्टनर को स्पॉन्ज महसूस होगा।

  • यह हार्मोन मुक्त है।

  • डॉक्टर की पर्ची नहीं चाहिए।

  • स्तनपान कराने के दौरान प्रयोग में लाया जा सकता है।

नकारात्मक पक्षः

  • कुछ महिलाओं को इसे लगाने में मुश्किल होती है।

  • इससे योनि में जलन हो सकती है।

  • यौन संबंध बनाने के समय असहज बना सकता है।

  • यौन संबंध शुष्क बना सकता है।

  • कुछ महिलाओं को सल्फा ड्रग्स, पॉलियूरेथेन या शुक्राणुरोधी मलहम से एलर्जी होती है और उन्हें स्पॉन्ज का प्रयोग नहीं करना चाहिए।

  • यदि आपने शराब पी हुई है तो इसका प्रयोग करना याद रखना मुश्किल होगा।

स्पॉन्ज के विफल होने की दर बहुत अधिक है। आपके बच्चे हैं या नहीं, यह इस पर निर्भर कर सकता है। ऐसी महिलाएं जिन्होंने अभी तक शिशु को जन्म नहीं दिया है, सही तरीके से प्रयोग करने पर उनमें विफल रहने की दर 9% है और आम तौर पर लोग जिस प्रकार इसका प्रयोग करते हैं उसमें 16%। ऐसी महिलाएं जिनके पहले से ही बच्चे हैं, इसके विफलता की दर अधिक है– सही तरीके से इस्तेमाल करने पर 20% और आमतौर पर प्रयोग करने वालों में 32%।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्‍न

  • हम यहां आपकी मदद करने के लिए हैं। यदि आपको अभी भी अच्छा महसूस नहीं हो रहा तो हमारे पास अन्य विधियां भी हैं। सिर्फ याद रखें: यदि आपने विधियों को बदलने का निर्णय ले लिया है तो परिवर्तन काल के दौरान खुद को सुरक्षित रखना सुनिश्चित करें। आपकी आवश्यकताओं के अनुसार विधि ढूंढ़ने के दौरान कॉन्डोम अच्छी सुरक्षा प्रदान करते हैं। अगर स्पॉन्ज बार– बार बाहर निकल जाए तो क्या करूँ?

  • इसे आजमाएं: जांचें कि आपने स्पॉन्ज पर्याप्त रूप से भीतर लगाया है। इसे आपके गर्भाशय ग्रीवा के पास होना चाहिए।

  • अभी भी काम नहीं कर रहा? यदि आपको अभी भी परेशानी हो रही है और आप बाधा विधि का प्रयोग करना चाहती हैं तो आप बाहरी कॉन्डोम (पुरुष), आंतरिक कॉन्डोम (स्त्री) या डायफ्राम के प्रयोग पर विचार कर सकती हैं या आप कुछ ऐसा आजमाना पसंद कर सकती हैं जिसे आपको भीतर डालना या प्रत्येक बार यौन संबंध बनाने से पहले इस्तेमाल न करना पड़े। आईयूडी, सूई/ इंजेक्शन, प्रत्यारोपण, पट्टी (पैच) या गोली के विकल्प को देखें।

  • अलग विधि आजमाएं: बाहरी कॉन्डोम (पुरुष), डायफ्राम, आंतरिक कॉन्डोम (महिला), आईयूडी, पट्टी (पैच), पिल, टीका

यदि स्पॉन्ज से मुझे जलन हो तो क्या करूँ?

  • यह जलन शुक्राणुरोधी मलहम के कारण हो सकती है। चूंकि आप इन दोनों को अलग नहीं कर सकती इसलिए आपको दूसरी विधि आजमानी चाहिए।

  • अभी भी काम नहीं कर रहा? ऐसी विधि को आजमाने का प्रयास करें जिसमें शुक्राणुरोधी मलहम की जरूरत न हो।

  • यदि आप बाधा विधि का प्रयोग जारी रखना चाहती हैं तो बाहरी कॉन्डोम (पुरुष) या आंतरिक कॉन्डोम (महिला) के प्रयोग पर विचार करें।

  • आप ऐसी विधि के प्रयोग पर भी विचार कर सकती हैं जिनमें प्रत्येक बार यौन संबंध बनाने से पहले उसका इस्तेमाल न करना पड़े जैसे आईयूडी, टीका, टीका, छल्ला (रिंग), पट्टी (पैच) या गोली।

  • अलग विधि आजमाएं: बाहरी कॉन्डोम (पुरुष), प्रत्यारोपण, आंतरिक कॉन्डोम (महिला), आईयूडी, पट्टी (पैच), पिल, टीका

References

[1] CHIJIOKE, M. K. (2016). SPERMICIDES AND DIAPHRAGMS. UNIVERSITY OF BENIN CITY: DEPARTMENT OF HEALTH, SAFETY AND ENVIRONMENTAL EDUCATION. Retrieved from https://www.academia.edu/24646826/SPERMICIDES_AND_DIAPHRAGMS
[2] Mayer Laboratories, Inc. (2018). Drug facts: TODAY VAGINAL CONTRACEPTIVE- nonoxynol-9 sponge. Retrieved from https://dailymed.nlm.nih.gov/dailymed/getFile.cfm?setid=6b4e54d7-6ba8-4400-bd52-75d112e6fe50&type=pdf&name=6b4e54d7-6ba8-4400-bd52-75d112e6fe50
[3] Society of Obstetricians and Gynaecologists of Canada. (2015). Canadian Contraception Consensus Chapter 5: Barrier Methods. JOGC Journal of Obstetrics and Gynaecology Canada , 37. Retrieved from https://www.jogc.com/article/S1701-2163(16)39376-8/pdf
[4] Shoupe, D. (2016). Barrier Contraceptives: Male Condoms, Vaginal Spermicides, and Cervical Barrier Methods. En D. Shoupe, The Handbook of Contraception: A Guide for Practical Management. Retrieved from http://eknygos.lsmuni.lt/springer/677/147-177.pdf
[5] World Health Organization. (2016). Selected practice recommendations for contraceptive use. Geneva. Retrieved from https://apps.who.int/iris/bitstream/handle/10665/252267/9789241565400-eng.pdf?sequence=1
[6] World Health Organization Department of Reproductive Health and Research and Johns Hopkins Bloomberg School of Public Health Center for Communication Programs (2018) Family Planning: A Global Handbook for Providers. Baltimore and Geneva. Retrieved from https://apps.who.int/iris/bitstream/handle/10665/260156/9780999203705-eng.pdf?sequence=1
[7] Xia, et al. (2020). DL-Mandelic acid exhibits high sperm-immobilizing activity and low vaginalirritation: A potential non-surfactant spermicide for contraception. Elsevier Masson. Retrieved from https://reader.elsevier.com/reader/sd/pii/S0753332220302961?token=063F3CA5FE829FE276755EF2EE8152EBC11B2906592153330A395D73878C354BC3E701A06960C98C04FA57B0D8AB401A


lang हिन्दी