आंतरिक कॉन्डोम (महिला कॉन्डोम) | Find My Method
 

योनि या गुदा के भीतर लगाएं। गर्भधारण करने और एसटीआई से सुरक्षा।

  • महिलाओं को अधिक नियंत्रण प्रदान करता है।

  • लेटेक्स एलर्जी वाले जोड़ों के लिए अच्छा विकल्प है।

  • प्रभावकारिताः सही तरीके से इस्तेमाल करने पर बेहतर। शुक्राणुरोधी मलहम (शुक्राणुनाशक) के साथ अधिक प्रभावी। सही तरीके से इस्तेमाल करने पर प्रत्येक 100 में से 95 महिलाएं गर्भधारण करने से बच सकती हैं। लेकिन ज्यादातर महिलाएँ सही तरीके से कॉन्डोम का प्रयोग नहीं करतीं– ऐसे में इस विधि का प्रयोग कर रही प्रत्येक 100 में से सिर्फ 79 महिलाएं हीं गर्भ धारण करने से बच पाती हैं।

  • दुष्प्रभावः आमतौर पर कुछ नहीं लेकिन यह आपके या आपके पार्टनर के लिए थोड़ी सी खीज पैदा कर सकता है।

  • प्रयासः बहुत अधिक। प्रत्येक बार यौन संबंध बनाते समय आपको इसका प्रयोग करना होगा।

सारांश

आंतरिक कॉन्डोम (महिला कॉन्डोम) एक पाउच होता है जिसे आप अपनी योनी या गुदा के भीतर डालती हैं। आंतरिक कॉन्डोम (महिला) उसी तरह से काम करता है जैसे बाहरी कॉन्डोम (पुरुष) करता है सिवाए इसके कि लिंग पर बाहर लगाए जाने की तुलना में इसे आपको अपने भीतर लगाना होता है। ये शुक्राणु को अपने भीतर और आपके योनि या गुदा से बाहर रखते हैं।

विवरण

एसटीआई सुरक्षा। आंतरिक कॉन्डोम (स्त्री) आपको एचआईवी समेत सबसे अधिक यौन संचारित संक्रमणों (एसटीआई) के प्रति सुरक्षा प्रदान करने में मदद करता है।

आंतरिक कॉन्डोम (महिला) में बहुत प्रयास और प्रतिबद्धता चाहिए। इस प्रकार के कॉन्डोम को प्रभावी बनाने के लिए आपको सुनिश्चित करना होगा कि प्रत्येक बार उपयोग के दौरान आप कॉन्डोम का ही तरीके से प्रयोग कर रही हैं।

आपका पार्टनर कॉन्डोम पहनने से मना कर दे। यदि आपका पार्टनर कॉन्डोम नहीं पहनना चाहता लेकिन आप फिर भी एसटीआई से सुरक्षित रहना चाहती हैं तो आंतरिक कॉन्डोम (महिला) एक अच्छा विकल्प है।

किसी पर्ची की आवश्यकता नहीं है। यदि आप यौन संबंध के बारे में डॉक्टर से बात करने में झिझक महसूस कर रही हैं या आप उनसे मिलना ही नहीं चाहतीं तो आपको हमेशा बाहरी कॉन्डोम (स्त्री) का प्रयोग करना चाहिए। अन्य कॉन्डोम की तुलना में इनको प्राप्त करना बहुत मुश्किल हो सकता है।

लेटेक्स एलर्जी वालों के लिए अच्छा है। ज्यादातर कॉन्डोम के जैसे ही, आंतरिक कॉन्डोम (महिला) प्लास्टिक या सिंथेटिक रबर के बने होते हैं। यदि आपको लेटेक्स से एलर्जी हो तब भी इनका प्रयोग कर सकती हैं।

उपलब्धता। क्या आप इस विधि का प्रयोग करना चाहेंगे?

उपलब्धता के बारे में जानने के लिए Methods in my country” खंड देखें।

प्रयोग कैसे करें

आंतरिक कॉन्डोम (महिला) प्रयोग में सरल हैं लेकिन इसके लिए थोड़े अभ्यास की जरूरत होती है। याद रखें, यदि यह आपका पसंदीदा तरीका है तो आपके प्रत्येक बार इसका प्रयोग करना होगा।

आंतरिक कॉन्डोम (महिला) को भीतर कैसे लगाएं।

    1. सबसे पहले, शर्माएं नहीं। आंतरिक कॉन्डोम (महिला) लगाना योनि में लिंग के प्रवेश से पहले आपकी यौन उत्तेजना और इच्छा को बढ़ाने का हिस्सा हो सकता है। यदि आप यौन संबंधों के बारे में अपने पार्टनर से बात करने में सहज हैं तो अपने यौन संबंध के अनुभव में खुशी को बढ़ाने के लिए कॉन्डोम का प्रयोग आप कैसे कर सकती हैं, इस पर चर्चा करें।

    2. अपने हाथों को साबुन और पानी से धोएं। बिना किसी चीज को छुए हाथों को हवा में ही सूखने दें।

    3. कॉन्डोम के बंद सिरे के बाहरी हिस्से पर कुछ शुक्राणुरोधी मलहम (शुक्राणुनाशक) या स्नेहक लगाएं।

    4. बैठ कर या खड़े रहते हुए, अपने पैरों को फैलाएं।

    5. बंद – सिरे के किनारों को मोड़ें, एक दूसरे के साथ घुमाएं और टैम्पन की तरह भीतर डालें।

    6. आपके योनि में यह छल्ला (रिंग) जितनी भीतर जा सके उतनी भीतर डालें। इसे अपने गर्भाशय ग्रीवा की तरफ भेजें।

    7. अपनी उंगली बाहर निकाल लें और बाहरी छल्ला (रिंग) को अपनी योनि से करीब एक इंच बाहर लटकता हुआ छोड़ दें। (यह थोड़ा अजीब दिखेगा)

    8. यदि आप गुदा यौन संबंध (एनल सेक्स) के लिए आंतरिक कॉन्डोम (महिला) का प्रयोग करना चाहती हैं तो इसी प्रक्रिया का पालन करें लेकिन इस बार गुदा के साथ।

यौन संबंध बनाने के दौरान यदि कॉन्डोम एक तरफ से दूसरी तरफ जाता है तो परेशान न हों। यदि पुरुष का लिंग कॉन्डोम से बाहर निकल जाए और आपके योनि या गुदा में चला जाए तो बहुत धीरे– धीरे कॉन्डोम को बाहर निकालें और फिर से लगा लें। यदि पुरुष गलती से आंतरिक कॉन्डोम (महिला) के बाहर और आपकी योनि में वीर्य स्खलित कर देता है तो आपको गर्भधारण के जोखिम से बचने के लिए आपतकालीन गर्भनिरोधक लेने पर विचार करना चाहिए।

आंतरिक कॉन्डोम (महिला) को कैसे निकालें।

    1. बाहरी छल्ला (रिंग) को मोड़ें और इसका मुंह बंद कर दें ताकि वीर्य बाहर न निकल जाए।

    2. कॉन्डोम को बहुत आराम से बाहर निकालें।

    3. इसे बच्चों की पहुंच से दूर फेंक दें। शौचालय में फ्लश न करें– यह नलसाजी (प्लंबिंग) संबंधी समस्या पैदा कर सकता है।

नियमित कॉन्डोम के साथ आंतरिक कॉन्डोम (महिला) का प्रयोग करना आपकी सुरक्षा को दो गुना नहीं करेगा। यह सिर्फ दोनों को एक दूसरे को नुकसान पहुंचाने की संभावना बढ़ा देगा।

टिप्स और तरीकेः आंतरिक कॉन्डोम (महिला) का प्रयोग करने से पहले, आपको हमेशा समापन तिथि और पैकेट के क्षतिग्रस्त होने या उसमें छेद तो नहीं है, की जांच करनी चाहिए।

दुष्प्रभावः

प्रत्येक व्यक्ति अलग है। आपने जो अनुभव किया वही दूसरा करे ऐसा जरूरी नहीं है।

सकारात्मक पक्षः

  • एसटीसी से आपकी सुरक्षा करने में मदद करता है

  • बाहरी छल्ला (रिंग) आपकी योनि को उत्तेजित कर सकता है

  • किसी डॉक्टर की पर्ची की आवश्यकता नहीं है

  • लेटेक्स से एलर्जी होने पर भी प्रयोग किया जा सकता है

  • तेल युक्त और जल युक्त दोनों ही स्नेहकों के साथ प्रयोग में लाया जा सकता है

  • पुरुष द्वारा स्खलन किए जाने पर भी अपने स्थान पर बना रहता है।

नकारात्मकः

  • जलन हो सकती है।

  • कुछ लोग स्नेहक के विशेष ब्रांड के प्रति संवेदनशील हो सकते हैं (यदि ऐसा हो तो दूसरा ब्रांड आजमाएं)

  • यौन संबंध बनाने के दौरान आपकी संवेदनशीलता कम कर सकता है

  • कुछ आंतरिक कॉन्डोम (महिला) में चरमराहट जैसी आवाज आ सकती है (लेकिन नवीन संस्करणों में नहीं होना चाहिए)

  • यदि आपने शराब पी रखी हो तो इसके प्रयोग को याद रखना मुश्किल है।

दुष्प्रभाव

प्रत्येक व्यक्ति अलग होता है। आपने जो अनुभव किया वैसा ही दूसरा व्यक्ति भी करे जरूरी नहीं।

सकारात्मक पक्षः

  • एसटीसी से आपकी सुरक्षा करने में मदद करता है

  • बाहरी छल्ला (रिंग) आपकी योनि को उत्तेजित कर सकता है

  • किसी डॉक्टर की पर्ची की आवश्यकता नहीं है

  • लेटेक्स से एलर्जी होने पर भी प्रयोग किया जा सकता है

  • तेल युक्त और जल युक्त दोनों ही स्नेहकों के साथ प्रयोग में लाया जा सकता है

  • पुरुष द्वारा स्खलन किए जाने पर भी अपने स्थान पर बना रहता है।

नकारात्मकः

  • जलन हो सकती है।

  • कुछ लोग स्नेहक के विशेष ब्रांड के प्रति संवेदनशील हो सकते हैं (यदि ऐसा हो तो दूसरा ब्रांड आजमाएं)

  • यौन संबंध बनाने के दौरान आपकी संवेदनशीलता कम कर सकता है

  • कुछ आंतरिक कॉन्डोम (महिला) में चरमराहट जैसी आवाज आ सकती है (लेकिन नवीन संस्करणों में नहीं होना चाहिए)

  • यदि आपने शराब पी रखी हो तो इसके प्रयोग को याद रखना मुश्किल है।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्‍न

यहां हम आपकी मदद के लिए हैं। यदि यह अब भी अच्छा नहीं महसूस करा रहा तो हमारे पास अन्य विधियों के विकल्प भी हैं। याद रखें: यदि आपने विधि को बदलने का फैसला किया तो स्विच करने के दौरान खुद को सुरक्षित रखना सुनिश्चित करें। जब तक आप अपनी आवश्यकता के अनुसार किसी विधि ढूंढ़ नहीं लेते तब तक बाहरी कॉन्डोम (पुरुष) अच्छी सुरक्षा प्रदान करता है।

यदि भीतर डालना बहुत मुश्किल हो तो?

  • आंतरिक कॉन्डोम (महिला) को भीतर डालना आसान हो सकता है बशर्ते आप इसका थोड़ा अभ्यास कर लें। जब आप यौन संबंध बनाने वाली न हों तब इसे अपने भीतर लगाने की कोशिश करें ताकि आप ऐसा करने की आदत डाल सकें।

  • अभी भी काम नहीं कर रहा? यदि इसे लगाना अभी भी आसान नहीं हो पा रहा और आप एसटीआई के बारे में चिंतित हैं तो इसकी बजाए बाहरी कॉन्डोम (पुरुष) का विकल्प चुनें।

  • यदि एसटीआई सुरक्षा आपके लिए अभी परेशानी की बात नहीं है तो आप उन गर्भनिरोधक उपायों को अपना सकती हैं जिनमें किसी भी चीज को अपने भीतर डालने की आवश्यकता नहीं होती। यूआईडी और इम्प्लान्ट दोनों ही क्लिनिक में डाले जाते हैं।

  • अलग विधि आजमाएं: प्रत्यारोपण, आईयूडी

यदि यह पुरुष के लिंग से चिपक जाए तो?

  • थोड़े से स्नेहक लगा और देखें कि क्या यह अभी भी चिपक रहा है।

  • अभी भी काम नहीं कर रहा? यदि आप दोनों सहमत हों तो बाहरी कॉन्डोम (पुरुष) के प्रयोग पर विचार करें। ये भी आपको एसटीआई से सुरक्षा प्रदान करेंगे।

  • यदि आपको एसटीआई सुरक्षा की चिंता नहीं है तो अलग विधि अपनाने पर विचार करें। छल्ला (रिंग) , पट्टी(पैच) या टीका आपके लिए अच्छे विकल्प हो सकते हैं।

  • अलग विधि आजमाएं– बाहरी कॉन्डोम (पुरुष),पट्टी(पैच), छल्ला (रिंग), टीका

आंतरिक कॉन्डोम (महिला) से चरमराने की आवाज क्यों आती है?

    1. थोड़ा सा स्नेहक लगाएं और देखें कि क्या अब भी उस में से चरमराने की आवाज आ रही है। आंतरिक कॉन्डोम (स्त्री) के नए संस्करणों में चरमराहट की कम आवाज आनी चाहिए, इनका प्रयोग करने की कोशिश करें।

    2. अभी भी काम नहीं कर रहा? यदि आपके पार्टनर को परेशानी न हो तो कॉन्डोम (पुरुष) का प्रयोग शुरु करें। यह आपको एसटीआई से भी सुरक्षा प्रदान करेगा।

  • यदि एसटीआई वह बात नहीं जिसके बारे में आप फिलहाल चिंता करें तो अलग विधि अपनाने पर विचार करें। आईयूडी, छल्ला (रिंग), पट्टी (पैच) या टीका आपके लिए अच्छा विकल्प हो सकता है।

3. अलग विधि आजमाएं: कॉन्डोम, आईयूडी ।

यदि पुरुष को भीतर वाला छल्ला (रिंग) महसूस हो तो?

  • यदि पुरुष भीतर वाले छल्ला (रिंग) को महसूस कर रहा है तो संभव है आपने इसे अपने योनि या गुदा में पर्याप्त रूप से भीतर नहीं डाला है। उसे थोड़ा और भीतर डालने की कोशिश करें।

    1. अभी भी काम नहीं कर रहा? यदि आपके पार्टनर को परेशानी न हो तो कॉन्डोम (पुरुष) का प्रयोग शुरु करें। यह आपको एसटीआई से भी सुरक्षा प्रदान करेगा।

  • यदि आप इस पार्टनर के साथ एसटीआई की चिंता नहीं कर रहीं तो संभव है आप अन्य गैर– बाधा वाली विधि को अपनाना चाहें। टीका और इम्प्लान्ट दोनों ही बहुत प्रभावी हैं।

3. अलग विधि आजमाएं: बाहरी कॉन्डोम (पुरुष), इम्प्लान्ट, टीका

क्या गर्भधारण करने और एसटीआई से बचने के लिए दो कॉन्डोम का प्रयोग करना अच्छा रहेगा?

  • निश्चित रूप से दो कॉन्डोम एक के मुकाबले अच्छा नहीं है। । दो कॉन्डोम अधिक रगड़ पैदा कर सकते हैं, जिससे कॉन्डोम के फट जाने का खतरा बढ़ जाता है।

  • यदि आप बहुत सुरक्षित रहना चाहते हैं तो एक कॉन्डोम का प्रयोग करें और एक अन्य प्रभावी गर्भनिरोधक विधि का ।

  • अलग विधि को आजमाएं: इम्प्लान्ट

जब मैं खड़ी होती हूं तो आंतरिक कॉन्डोम (महिला) क्यों बाहर निकाल आता है?

  • यौन संबंध बनाने से आठ घंटे पहले आप आंतरिक कॉन्डोम (महिला) को योनि में डाल सकती हैं।

  • यदि आप इसे डालने के बाद खड़ी होती हैं तो आंतरिक कॉन्डोम (महिला) आपकी योनि या गुदा से थोड़ा बाहर निकल कर लटक सकता है। यदि आप इसे पहले डालना चाहती हैं लेकिन उसके लटके हुए धागे से बचना चाहती हैं तो कॉन्डोम के बाहरी हिस्से को अपने शरीर के बहुत करीब बनाए रखने के लिए चुस्त अंतःवस्त्र पहनें।